Himachali Chutkule

हिमाचली मुंडू – मिंजो व्याह नी करना , मिंजो सारियां जणासां ते डर लगदा !!
मंडुए दा पापा – ओ मिया करी ले , फिरि तीजो इकि जणासां ते डर लगणा, बाकि जणासां तीजो छैल लगणियां !!

इक मुंडू , पंडित आली जांदा कने बोल्दा- पंडित जी मेरा व्याह कजो नी होदा !!
पंडित बोल्दा – ओ मैया तेरिया कुण्डलिया च सुख ही सुख लिख्या, इस ताईं तेरा व्याह नी होदा !!

हिमाचली पति – तू आजकल बड़ी छैल लगा दी !!
हिमाचली पत्नी – तुसां जो कियां पता लगा ?
हिमाचली पति – तीजो दिखी करी रोटियां फकोंणा लगी पइयाँ !!

हिमाचली पत्नी: मैं सुण्या कि स्वर्गे च लाड़ा-लाडी जो सोगी नी रहना दिंदे !!
हिमाचली पति: मिये ता ही ता उसजो स्वर्ग बोलदे !!

हिमाचली पति – राजा दशरथे दियां तीन लाडियां थियां !!
हिमाचली पत्नी – ता मैं क्या करना ?
हिमाचली पति – ता फिरि मैं दो ब्याह होर करि सकदा !!
हिमाचली पत्नी – ता फिरि तुसां भी सोची लया !! द्रोपदीया दे भी पंज लाडे थे !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *