पहाड़ों की रानी शिमला

हिमाचल के प्राकृतिक सौंदर्य का जितना वर्णन किया जाए बहुत कम होगा। देवभूमि हिमाचल जहां धर्म और आस्था से परिपूर्ण है वहीं प्राकृतिक सौंदर्य का अलौकिक रूप भी है। आईए हम आपको प्रकृति की अलौकिक छटा और देवभूमि हिमाचल की राजधानी शिमला से रूबरू करवाएं। शिमला को पहाड़ों की रानी भी कहा जाता है और यह हिमाचल प्रदेश की राजधानी भी हैhumhimachali shimla

शिमला भारत के साथ-साथ पूरी दूनिया में अपने अनुपम सौंदर्य के कारण सैलानियों का प्रिय दर्शनीय स्थल रहा है। शिमला, रोमांचक खेलों जैसे स्कीइंग, ट्रेकिंग, फिशिंग और गोल्फ के लिए एक सुविधाजनक बेस का काम भी करता है। यद्यपि ब्रिटिश साम्राज्य समाप्त हो चुका है पर इसकी छाप अभी भी शिमला में दिखाई पड़ती है। भारत में ब्रिटिशों की ग्रीष्मकालीन राजधानी रहा यह शहर पहले से ही आकर्षण का केंद्र रहा है। अब हिमाचल प्रदेश राज्य की राजधानी के रूप में शिमला में सभी सुविधाएँ मौजूद हैं। शिमला का नाम देवी श्‍यामला के नाम पर रखा गया है जो काली का अवतार है।

शिमला समुद्र तल से 6890 फीट ऊंचा, देश का सर्वाधिक ख़ूबसूरत हिल स्टेशन है, जो कि 12 किलोमीटर लम्बाई में फैला हैं। शिमला चंडीगढ़ से 114 किलोमीटर उत्तर में लगभग 2,200 मीटर की ऊँचाई पर लघु हिमालय की एक पर्वत चोटी पर स्थित है। शिमला लगभग 7267 फीट की ऊँचाई पर स्थित है और यह अर्ध चक्र आकार में बसा हुआ है। जहां पूरे वर्ष ठण्‍डी हवाएँ बहने का वरदान है।

शिमला मे घूमने के लिए प्रमुख स्थल –

रिज- शिमला के बिलकुल बीच में The Shimla Ridge है जहा से पहाड़ की चोटियों का सुंदर दृश्य दीखता है |The Shimla Ridge एक खुली जगह है जो पूर्व से पश्चिम तक फ़ैली हुयी विशाल जगह है | यह पश्चिम में Scandal point को जोडती है | अगर आपको पहाड़ देखना पसंद है तो ये शिमला Shimla की सबसे सुंदर जगह है | बादलो से घिरे पहाड़ आपको मोहित कर देंगे |

जाखू मंदिर – जाखू मंदिर हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला के प्रमुख धार्मिक स्थलों में से एक है। यह प्रसिद्ध मंदिर ‘जाखू पहाड़ी’ पर स्थित है। भगवान श्रीराम के अनन्य भक्त हनुमान को समर्पित यह मंदिर हिन्दू आस्था का मुख्य केंद्र है। रिज पर बने चर्च के पास से पैदल मार्ग के अलावा मंदिर तक जाने के लिए पोनी या टैक्सी द्वारा भी पहुंचा जा सकता है।

The Mall Road- यह शिमला का मुख्य शापिंग सेंटर है। अच्छे रेस्तरां हैं। यह स्थान पुराने ब्रिटिश थियेटर का ही रूप है। अब सांस्कृतिक गतिविधियों का केंद्र है। कार्ट रोड से माल के लिए लिफ्ट से जाया जा सकता हैं।

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस स्टडीज़- इसका निर्माण वायसराय लॉर्ड डफरिन के आवास हेतु किया गया था, किन्तु अब इसका उपयोग इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस स्टडीज़ के लिए किया जाता है। इसके टैरेस से सूर्यास्त और सूर्योदय का शानदार नज़ारा देखना न भूलें।

तारादेवी शिमला- कालका सड़क मार्ग पर यह पवित्र स्थान के लिए रेल, बस और कार सेवा उपलब्ध है। स्टेशन/सड़क से पैदल अथवा जीप/टैक्सी द्वारा यहां पहुंचा जा सकता है।

नारकंडा- हिंदुस्तान-तिब्बत मार्ग पर स्थित नारकंडा से बर्फ से ढकी पर्वत-श्रंखला केसुंदर दृश्य देखे जा सकते हैं। देवदार के जंगलों से घिरा ऊपर की ओर जाता मार्ग हाटु चोटी (8 कि.मी.) तक जाता है। हाटु माता का प्राचीन मंदिर पर स्कीइंग करने वालों की भीड़ रहती है। सर्दियों में यहां शार्ट स्कीइंग कोर्स आयोजित किए जाते हैं।

समर हिल- शिमला-रेलवे लाइन पर, समुद्र तल से 1283 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है। आगंतुक इस खूबसूरत जगह के शांत वातावरण में एक प्रकृति वॉक ले सकते हैं। ‘मैनोर्विल हवेली’ और ‘हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय’ इस पहाड़ी पर स्थित हैं।

संकट मोचन मंदिर शिमला – कालका-शिमला राजमार्ग पर समुद्र तल से ऊपर 1975 मीटर की ऊंचाई पर है। यह मंदिर भगवान हनुमान को समर्पित है, और यह शिमला टाउन और शक्तिशाली हिमालय पर्वतमाला के सम्मोहित कर देने वाले मनोरम दृश्यों को प्रदर्शित करता है।

हम आपको बता देते हैं कि शिमला कैसे पहुंचा जा सकता है 

By Flight – शिमला का नजदीकी डोमेस्टिक एयरपोर्ट शिमला है और अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा चंडीगढ़ में है जहाँ से बस या टैक्सी द्वारा शहर पहुँच सकते हैं।

By Train – नजदीकी रेलवे स्टेशन कालका और शिमला के बीच में 806 ब्रिज और 103 टनल बनाये गए हैं जो ब्रिटिश इंजिनियरिंग का एक बेहतरीन नमूना है, जिसे “पूर्वी ब्रिटिश आभूषण (British Jewel of the Orient)” कहा जाता है। कालका से लगभग 6 घंटे में शिमला पहुंचा जा सकता है, कालका देश के अनेक रेलवे मार्गो से जुडा हुआ है। शिमला और कालका के बीच में आने जाने के लिए टॉय ट्रेन से सफ़र करने का अपना अलग ही मजा है।
कालका से शिमला के बीच के स्टेशन-
1. कालका 2. टकसाल 3. गुम्मन 4. कोटी 5. जाबली 6. सनवारा 7. धर्मपुर 8.कुमारहट्टी 9. बड़ोग 10.सोलन 11. सोलन ब्रूरी 12. सलोगड़ा 13. कंडाघाट 14.कनोह 15. कैथलीघाट 16. शोधी 17. तारादेवी 18. जतोग 19. समरहिल 20. शिमला

By Road – राष्ट्रीय राजमार्ग 22 शिमला और चंडीगढ़ को जोड़ता है इसके अलावा राज्य के अन्य शहरों से बस या टैक्सी द्वारा भी शिमला पहुंचा जा सकता है। दिल्ली से शिमला के लिए सरकारी और निजी बस सेवाएँ चलती हैं, पर्यटक प्राइवेट टैक्सी से भी शहर आसानी से पहुँच सकते हैं।

Best time to visit Shimla – March to June: This is a popular tourist season in Shimla as the weather is quite pleasant and perfect for outdoor activities. The temperature is comfortable and usually varies between 15°C and 30°C. If you are into adventure sports then this is the ideal time to try paragliding, trekking, camping and rafting.

You can also visit Shimla during winter months- The hill station witnesses heavy snowfall and tourists throng Shimla in December during Christmas and New Year. Winters are also an ideal time to visit Shimla if you love adventure sports like skiing and ice-skating.

शिमला की सामान्य जानकारी-
राज्य- हिमाचल प्रदेश
स्थानीय भाषा- हिमाचली (पहाड़ी), हिंदी और अंग्रेजी
स्थानीय परिवहन- बस, ऑटो, टैक्सी
पहनावा- यहाँ के पुरुष और महिलायें घुटने तक का लम्बा कुर्ता और पजामा पहनते हैं, पुरुष सिर पर हिमाचली टोपी और महिलाएं दुपट्टे को अपने सिर पर बांधती हैं। ठंडा इलाका होने के कारण ऊनी कपड़ों का प्रयोग अधिक किया जाता है।
खान-पान- हिमाचल की स्वादिष्ट बाल मिठाई तो पर्यटकों के बीच प्रसिद्ध है ही, साथ ही सेपू बड़ी, बाथू की खीर, सिड्डू, मंडी का ‘झोल’ मालपूड़े, खट्टा कद्दू, चन्ना मदरा, चिकन अनारदाना और कचालू का सालन जैसे पकवानों के स्वाद आप कभी भूल नहीं पाएँगे।

मित्रो अगर आपने शिमला की इन जगहो पर घूम रखा हो या घुमने का प्लान बना रहे हो तो अपने शिमला के अनुभवो को कमेंट में जरुर बताये ताकि पर्यटन स्थलों के बारे में ओर अधिक जानकारी पा सके

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *